Natkhat Movie Review In Hindi | Star Cast I Release Date

NATKHAT MOVIE REVIEW IN HINDI | STAR CAST | RELEASE DATE

स्वागत है आप सभी का आपके हमारे वेबसाइट “OKBUDDIES.COM” में। तो कैसे हैं आप लोग, आशा करते हैं कि आप सभी अच्छे होंगे। तो चलिए शुरू करते हैं आज के इस आर्टिकल Natkhat Movie Review In Hindi में।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको Natkhat Movie का Review वो भी हिंदी में देंगे detail के साथ। इसमें आप जानेंगे Natkhat Movie Release Date, Star Cast, Director, Producer, etc. यह फिल्म एक short film है जिसे आपको जरूर देखना चाहिए।

Movie Name Natkhat
Release Date 2 June 2020
Genre Short Film
Director Shaan Vyas
Producer Ronnie Screwvala, Vidhya Balan
Writer Anukampa Harsh, Shaan Vyas
Star Cast Sanika Patel, Vidhya Balan
Imdb Rating click here

Natkhat Movie Release Date 

जैसा कि आप सभी जानते ही होंगे कि Natkhat Movie, 2 June 2020 को ही Release हो चुकी है। यह फिल्म एक short film है जिसे आपको जरूर देखना चाहिए। अगर आप इस फिल्म को देखना चाहते हैं तो Voot को अपने मोबाइल, लैपटॉप में open करें और आराम से popcorn का मजा उठाते हुए इस फिल्म को देखिये। 

Natkhat Movie Review In Hindi

Movie के स्टार्टिंग में हमें SONU नाम के लड़के को दिखाते हैंं। जो अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेल रहा होता है। जहां पर उसके फंडिंग लगी होती हैै। वहीं पर कुछ बड़े लड़के बैठ कर बात कर रहे होते हैं कि पहले हम उसका पीछा करेंगे। फिर उसे जंगल में रह जाएंगे और फिर बारी-बारी से अपना काम करेंगे। उनकी बातों से ऐसा लग रहा था वह लोग कुछ उल्ट सीधा करने का प्लान बना रहे है। यह सब बातें वहां खड़ा SONU सुन लेता है।

Veeru Caught Reshma

फिर हमें स्कूल को दिखाते हैं। जहां पर कुछ लड़कियां ग्रुप में लंच कर रही होती है। तभी वहां पर VEERU नाम का लड़का आपका लड़कियों की चोटी तनने लगता हैै। तभी रेशमा नाम की लड़की VEERU में थप्पड़ मार देती हैै। फिर हम देखते हैं SONU अपने क्लास में पढ़ रहा होता है। उसे बुलाने के लिए एक लड़का आता है। SONU उसके साथ चला जाता हैै। उससे VEERU ने बुलाया होता है। VEERU, SONU से पूछता है पार्क में वह लड़के क्या कह रहे थेे। फिर वह लोग वही करने का सोच लेते हैं। जब रेशमा अपने घर जा रही होती हैै। VEERU अपने दोस्तों के साथ उसे पकड़ लेता है। और जंगल में ले जाता है। वहां पर VEERU कैंची लेता है और SONU से पूछता है इसके आगे क्या करना है।

SONU कहता है मुझे नहीं पता फिर VEERU कैची से उसकी चोटी काटने की धमकी देता हैै और कहता है आइंदा मेरे पर हाथ उठाया तो मैं तुम्हारी चोटी काट दूंगा। फिर रेशमा को छोड़ देता है रेशमा डरते हुए घर चली जाती है।

Jalebi

फिर SONU घर आता है घर में घुसते ही उसे उसकी दादी मिलती है। फिर वह अपनी मां को ढूंढने लगता है। मोसी से पूछती है आज मेरे नटखट लाला ने स्कूल में क्या किया। लेकिन SONU कुछ नहीं बता पाता। क्योंकि उसने स्कूल के बहाने कुछ और ही किया होता है। वह अपनी मां से बोलता है मां मेरे लिए जलेबी बना दो। मां बोलती है जलेबी साफ-सुथरे लोगों के लिए ही बनाते हैं तो तुम जाओ नहा कर आओ।

अब हम देखते हैं SONU और उसका पूरा परिवार खाना खा रहे होते हैं। जिसमें उसके पापा उसके दादा और उसके चाचा होते हैं। मां खाना खिला रही होती हैै। उनका बिज़नस रेत तस्करी करने का होता हैै। चाचा कहता है एमएलए मैडम का रिश्वत का रेट बढ़ गया है  तो मैंने सबके साथ धरने पर बैठकर उनसे कहा 30 परसेंट से ज्यादा हम नहीं देंगे। यह सुनकर SONU के पापा कहते है। यह जो वहां करके आया है इसकी वजह से एमएलए मैडम ने मुझे कॉल लगाया था। और बहुत गुस्सा हो रही थी।

Sonu’s Planning

तभी दादा कहते हैं कुछ सीखो अपने छोटे भाई से और छोटे भाई को शाबाशी देने लगते हैं। तभी SONU कहता है उसे उठा क्यों नहीं लेते यह सुनकर सब लोग shock हो जाते हैं। SONU कहता है जब कोई लड़की परेशान करती है तो उसे जंगल में ले जाना चाहिए। फिर उसके बाद वह परेशान कभी नहीं करेगी। कैसे मैंने हमारे स्कूल की लड़की रेशमा उठा लििया था। तो हमने उसे उठा लिया अब वह कुछ नहीं बोलती। हमसे यह सुनकर उसके पापा उसे मारने के लिए उठते हैं। तभी दादा जी कहते हैं छोड़ो लड़का हैै। गलती हो जाती है रहने दो यह बात SONU की मां किचन में से सुन लेती है।

अब हमें दिखाते हैं रात होने पर SONU की मां मुझसे पूछती है। जो तुम खाने के टाइम बात कर रहे थे। तुमने आज स्कूल में क्या किया। तब SONU कहता है हमारे स्कूल में रेशमा नाम की लड़की हैै। जिसने VEERU को थप्पड़ मार दिया। भला ऐसा भी होता है कि कोई लड़की लड़के को थप्पड़ मार देे।इसलिए हमने उसे उठा लिया और जंगल ले गए। जिसके बाद अब वह हमें परेशान नहीं करेगी। यह बात सुनकर उसकी मां डर जाती है। और सोचती है मेरा बेटा किस राह पर निकल गया है। तभी SONU देखता है और मां से पूछता है। यह चोट कैसे लगी उसकी मां कहती है। मेरे लाला ने कोई सेतानी की होगी इसलिए यह चोट लग गई और वह बात को टाल देती है। फिर वह SONU को कहानी सुनाती हैै।

Sonu’s Mom Story

वह बताती हैं बहुत साल पहले एक राजा रहा करता था। जिसका नाम रुद्र कुमार था। उसकी एक बेटी थी जिसका नाम उर्मी था वह अपनी बेटी से बहुत प्यार करता था। लेकिन वह चिड़िया उसे नफरत करता था। उसने यह ऐलान कर दिया था। जो जितनी चिड़िया मारेगा उसे उतना बड़ा इनाम मिलेगा। जिसकी वजह से आसमान में कोई भी चिड़िया दिखती थी। उसको मारने के लिए हजारों तीर छोड़ देते थे तभी SONU पूछता है। राजा को छोड़ दिया उसे नफरत क्यों थी मां बताती हैै। एक दिन चिड़िया का झुंड राजा से मिलने आयाा। और उससे पूछा तुम हमसे इतनी नफरत क्यों करते हो। भगवान ने तुम्हें भी बनाया है और हमें भी बनाया है।

तभी राजा कहता है मेरा भगवान तुम जैसे कमजोर को नहीं बना सकते। यह कहकर अपने सिपाहियों को मारने का आदेश दे देता हैै। जिसमें से कुछ चिड़िया बचके उड़ जाती हैं और कुछ चिड़िया मर जाती हैं। तभी हमें SONU की लाइफ दिखाते हैंं। जिसमें धीरे धीरे गलत संगति में पढ़कर वह बिगड़ रहा था। मां जो कहानी सुनाती है वह डे बाय डे सुनाती है।

Birds Decision

अब मां अगले दिन कहानी सुनाती रहती है फिर चिड़िया फैसला किया। वह यहां से चले जाएंगे फिर पूरे राज्य के आसमान में एक भी चिड़िया नहीं होती। जिसकी वजह से राज्य में हर जगह चूहे ही चूहे हो गए थे। हर गली हर खेत में हर जगह अगले दिन उसकी बेटी की तबीयत खराब हो जाती है। हकीम की दवा का भी असर नहीं होता और उसकी तबीयत ठीक नहीं होती। तभी SONU देखता है की मां के सिर पर चोट लगी हुई है। वह मां से पूछता है यह चोट कैसे लगीी। मां फिर से हंस कर बोलती है मेरे नटखट लाला ने कोई शैतानी की होगी। जिसकी वजह से यह चोट लगी है और बात को टाल देती है।

फिर वह कहानी सुनाती है आप राजा दिन-रात भगवान के सामने प्रार्थना करने लगा। 1 दिन भगवान उसके साथ आए तब राजा रोते हुए कहता है। मैंने आपके दिन रात पूजा की है मैं एक अच्छा राजा और एक अच्छा पिता भी हूं। फिर मेरे साथ ऐसा क्यों हो रहा है भगवान कहते हैं। जो तेरी बेटी के साथ हो रहा है वह तेरी ही करनी का फल है। तूने जो उन चिड़िया को मार मार के भगा दिया। वह भी तो मेरी संतान उनकी प्रार्थना करने के कारण मैंने तुझे यह सजा दी है।

यह बात सुनकर राजा को बहुत गुस्सा आता है और कहता है। आप ऐसा कैसे कर सकते हो। ऐसे कमजोर चीज को क्यों बनाया। आप मेरे भगवान नहीं हो सकते और भगवान से अपना भरोसा उठा लेता है। राजा बहुत ज्यादा नास्तिक हो जाता है और सोचता है। कैसे भी ना कैसे इस बीमारी को खत्म करना होगा। वह अपने राज्य में यह घोषणा कर देता है। जो जितने चूहे मारेगा उसे उतना ज्यादा इनाम मिलेगा। यह सुनकर लोग रात ही रात में सारे चूहे मार देते हैं। लेकिन सुबह पूरे राज्य में बदबू फैल जाती है।

Sonu’s Question

तभी SONU फिर से देखता है मां के गाल पर चोट लगी हैै। और पूछता है यह कैसे लगी फिर से मां वही जवाब देती है मेरे लाला ने कोई शैतानी की होगी इसलिए मुझे यह चोट लगी है।आगे कहानी सुनाती है कहती है इतने चूहे मारने के बाद और भी बीमारी बढ़ने लगी। जिसकी वजह से वहां पर अलग अलग तरह के कीड़े भी आ गए। जिसकी वजह से वहां की फसल को खाने लगे और पूरे राज्य में सूखा भी हो गया।

अगले दिन SONU पानी पी रहा होता है और देखता है उसके पापा उसकी मां के साथ जबरदस्ती कर रहे होते हैं। और उसे पीट रहे होते यह सब देख कर SONU डर के वहां से भाग जाता है। फिर मां कहानी सुनाती है और कहती है राजा की बेटी की हालत बेकार पर बेकार हो रही थी। SONU मां को देखता है लेकिन मां से नहीं पूछता की यह चोट कैसे लगी हुई है। क्योंकि उसे पता होता है यह चोट कैसे लगी हुई है। तभी मां पूछती है उर्मी की हालत का जिम्मेदार कौन था। और आज इसने कोई ना कोई शैतानी की होगी। जिसकी वजह से यह चोट मुझे आई है।

Sonu Realise His Mistake

SONU कहता है राजा रूद्र की वजह से उर्मी की यह हालत हैै। और मैंने कोई भी शैतानी नहीं की मां वह कहती है। तुमने कोई ना कोई गलती की है जिसकी वजह से यह चोट मुझे लगी हैै। SONU रोते रोते अपनी मां को गले लगा लेता  और कहता है आज के बाद मैं कोई भी शैतानी नहीं करूंगा कोई भी गलत काम नहीं करूंगा।

यहां पर हमें पता चलता है की जब SONU कोई भी गलत काम करता थाा। तो उसके पापा उसे नहीं मार पाते थे। क्योंकि वह छोटा था इसलिए वह अपना सारा गुस्सा उसकी पर निकाल देते थेे। और कभी कबार जबरदस्ती भी करते थे इसीलिए मां हमेशा यह बात कहती थी मेरे नटखट लाला ने कोई शैतानी की होगीी। इसलिए यह चोट लगी है SONU को सारी बात समझ आ गई थी। इसलिए वह अपनी मां से माफी मांगता है और कहता है अब मेरे से कोई गलती नहीं होगी।

King Realise His Mistake

अब मां SONU से कहती हैं, उर्मी बचाने के लिए राजा को क्या करना चाहिए। SONU कहता है राजा को सारी चिड़िया उसे माफी मांगनी चाहिए। मां कहती है उसका कोई फायदा नहीं होगा क्योंकि अभी भी राज्य में बीमारी फैली हुई होती है। और हर जगह सूखा है। SONU कहता है राजा को मेहनत करनी चाहिए और राज्य में हरियाली लानी चाहिए। तभी राज सुधरेगा अब SONU भी सुधर गया था। कोई भी गलत काम नहीं करता था। मां कहती है राजा ने भी ऐसा ही किया उसने खेत में बीज बोए। खेती शुरू कर दे उसकी बेटी की तबीयत खराब थी। लेकिन वह मेहनत करता रहा।

हम देखते हैं की VEERU लड़कियों को छेड़ रहा होता है। तभी वहां SONU आकर VEERU को रोकता है वह गलत के खिलाफ और सही के साथ होता है। मां कहती है राजा की मेहनत रंग लाई खेतों में फिर से हरियाली वापस आए। सारी चिड़िया वापस आ गई और राज्य में खुशियां वापस आ गई। फिर दरवाजे पर कोई आता है। वह कोई और नहीं बल्कि उसकी बेटी उर्मि होती है जो पूरी तरह से ठीक हो गई थी।

तब हम देखते हैं उसकी मां उसके लिए जलेबी बना कर लाई है। क्योंकि मां कहती हैं जलेबी साफ-सुथरे बच्चों को ही मिलती है। और अब SONU भी साफ सुथरा हो गया था। मां के चेहरे पर कोई भी चोट के निशान नहीं थे। क्योंकि उसका नटखट लाला अब शैतानी नहीं करता था। उर्मि के हाथ मे एक लाल कलर की चिड़िया होती है  जो राजा से कहती है मेरी हर रचना अनोखी और सामान है। तब राजा को समझ आता है की भगवान उस चिड़िया के अवतार में आए है।

अब हम देखते हैं SONU और उसकी मां जलेबियां खा रहे होते हैं और मूवी यहीं पर खत्म हो जाती है।

Natkhat Movie Conclusion

इस मूवी में हमें यह बात समझ आती है की अगर आपको सही संगति ना मिले। तो आप गलत राह पर निकल जाते हैं। जैसा कि आपने इस मूवी में पड़ा होगा कि कैसे एक छोटा सा बच्चा अपने आसपास की चीजों से आसपास के लोगों से गलत चीजें सीख रहा था। इसलिए अपनी संगति ठीक रखें और सतर्क रहें।

 

Leave a Comment