Teddy Movie Review In Hindi | Star Cast | Release Date

TEDDY MOVIE REVIEW IN HINDI | STAR CAST | RELEASE DATE

स्वागत है आप सभी का आपके हमारे वेबसाइट “OKBUDDIES.COM” में। तो कैसे हैं आप लोग, आशा करते हैं कि आप सभी अच्छे होंगे। तो चलिए शुरू करते हैं आज के इस आर्टिकल Teddy Movie Review In Hindi में।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको Teddy Movie का Review वो भी हिंदी में देंगे detail के साथ। इसमें आप जानेंगे Teddy Movie Release Date, Star Cast, Director, Producer, etc. यह फिल्म एक fantasy, action फिल्म है जिसे आपको जरूर देखना चाहिए।

Movie Name Teddy
Release Date 12 March 2021
Genre Fantasy Action
Director Shakti Soundar Rajan
Producers K.E. Gnanavel Raja
Writer Shakti Soundar Rajan
Music D Imman
Star Cast Arya, Sayyeshaa, Sathish
Imdb Rating click here

 

Teddy Movie Release Date 

जैसा कि आप सभी जानते ही होंगे कि Teddy Movie, 12 March 2021 को ही Release हो चुकी है। यह फिल्म एक fantasy, action फिल्म है जिसे आपको जरूर देखना चाहिए। अगर आप इस फिल्म को देखना चाहते हैं तो Disney+ Hotstar को अपने मोबाइल, लैपटॉप में open करें और आराम से popcorn का मजा उठाते हुए इस फिल्म को देखिये।

Teddy Movie Review In Hindi

Movie के स्टार्टिंग में हमें एक लड़की को देखते है। जिसका नाम SRIVIDYA होता है। तभी SRIVIDYA की मम्मी का कॉल आता है। जो कहती है। बेटा घर जल्दी वापस आ जाओ। कॉल कटने के बाद उसका बॉयफ्रेंड आता है। जो कहता है। मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं मैं तुम्हारे बिना रह नहीं सकता। तभी इनकी बस से एक बाइक वाले का एक्सीडेंट हो जाता है। उस आदमी का पैर बाइक में फंस जाता है। तो SRIVIDYA उसकी मदद करने के लिए चाहते है। मदद करते करते बाइक अपनी जगह से हिल जाती है। जिसकी वजह से SRIVIDYA को चोट आ जाती है। तभी वहां पर एंबुलेंस आ जाती है। SRIVIDYA और उस आदमी को एंबुलेंस में बिठा देते है। SRIVIDYA कहती है। अपने दोस्तों से हॉस्पिटल की लोकेशन मैं तुम्हें भेज दूंगी।

Injection

अब नर्स SRIVIDYA को खून चढ़ाती है। इंजेक्शन लगाने लगती है। तभी SRIVIDYA डर जाती है। तभी बगल में लेटा लड़का कहता है। दीदी आप मत करो जो आप के बगल में TEDDY रखा है। आप उसे पकड़ लो। और इंजेक्शन लगवा लो SRIVIDYA इंजेक्शन लगवा लेती है। और फिर बेहोश हो जाती है। तभी दो वार्ड बॉय आकर उसे दूसरे रूम में ले जाते है। और उसके हाथ पर एक बार कोड बना देते है। डॉक्टर की बातों से पता चलता है। उन लोगों ने SRIVIDYA को ऐसी दवाई दी है। जिससे वह कोमा में चली जाएगी। लेकिन थोड़ी देर बाद SRIVIDYA को होश आ जाता है। और वहां से भागने की कोशिश करती है। तभी एक वार्ड बॉय उसके सर पर मार के उसे बेहोश कर देता है। इसी दौरान SRIVIDYA की आत्मा TEDDY के अंदर आ जाती है। और SRIVIDYA कोमा में चली जाती है।

अब SRIVIDYA अपने आप को TEDDY में देखकर डर जाती है। तभी SRIVIDYA की बॉडी को कहीं लेकर जा रहे होते है। TEDDY उनका पीछा करती है। लेकिन वह लोग बॉडी को लेकर चले जाते है।

Shiva Fight

अब हमें SHIVA को देखते है। इसको अकेला रहना पसंद होता है। और यह काफी बुद्धिमान भी होता है। इसकी दोस्त किताबें होती है। SHIVA एक दिन ट्रेन में जा रहा होता है‌। तभी उसके सामने एक लड़के को कुछ गुंडे छोड़े रहे होते है। तभी SHIVA उनको गुंडे से कहता है। मत करो लेकिन गुंडे नहीं मानते तो SHIVA उन गुंडों को पीट देता है। तभी वहां पर TEDDY उसे देख लेती है। और उससे SHIVA पसंद आ जाता है। SHIVA का पीछा करते-करते उसके घर पहुंच जाती है। SHIVA TEDDY को देख कर डर जाता है। यह TEDDY मेरे घर के अंदर कैसे आया। तभी TEDDY चलकर उसके पास आती है। तो SHIVA और भी डर जाता है कि यह चल भी सकती है और बोल भी सकती है। उससे लगता है। यह एक सपना है। तो अपने दोस्त को कॉल लगाता है। जब उसका दोस्त घर आता है। और यह सब देखता है। तो सेवा को पता चलता है। यह सपना नहीं बल्कि हकीकत है।

अब TEDDY SHIVA को सब बता देती है। कैसे उसके साथ यह हादसा हुआ। तो SHIVA उसकी बात पर यकीन करके उसकी मदद करने लगता है। TEDDY SHIVA के साथ अपने बॉयफ्रेंड के घर जाती है। जहां पर वह किसी और लड़की के साथ होता है। यह देख कर TEDDY मायूस होता है। फिर वह अपने घर चलने के लिए कहती है। जहां पर सब उसे मरा समझ लेते है। SHIVA देखता है SRIVIDYA के पापा खुदकुशी कर रहे होते है। SHIVA हमको समझाता है। SRIVIDYA जिंदा है। मैं उसे लेकर आऊंगा।

Identity Card

अब SRIVIDYA, SHIVA हॉस्पिटल जाते है। जहां पर SRIVIDYA को इंजेक्शन लगाया गया था। लेकिन उसे ऑपरेशन स्टेटस नहीं जाने देते क्योंकि वहां पर सिर्फ वही जा सकता है। जिसके पास आईडी कार्ड है। TEDDY कार्ड लेने के लिए अंदर जाती है। जहां पर नर्स के साथ उसकी लड़ाई होने लगती है। लेकिन वह SHIVA के लिए कार्ड लेकर आ जाती है। SHIVA अंदर आकर कैमरे को तोड़ देता है। लेकिन उसे एक

वार्ड बॉय देख लेता है। तो उनकी लड़ाई शुरू हो जाती है। थोड़ी देर बाद सेवा वार्ड बॉय से पूछता है। तुमने SRIVIDYA की बॉडी का क्या किया। तभी एक वार्ड बॉय बताता है। मैं एंबुलेंस में बैठा था‌। और वह लोग बॉडी को ले गए थे। मैंने कांच में देखा था। तो एक क्लीनिक का नाम था।

Courier Company

अब SHIVA क्लीनिक जाता है। डॉक्टर मना कर देता है। यहां कोई बॉडी नहीं आई है। तभी SHIVA देखता है। बगल में एक कुरियर कंपनी होती है। उससे शक होता है। शायद पार्टी यहीं पर है। क्या यह पता करने के लिए वह TEDDY को एक बॉक्स में बंद कर देता है। और उसे एक फोन दे देता है। जिससे वह कांटेक्ट में बने रहे। और SHIVA उस बॉक्स को कुरियर कंपनी को दे देता है। कंपनी की गाड़ी कुरियर डिलीवरी करने जा रही होती है। तो SHIVA और उसका दोस्त उनका पीछा करते है। वह गाड़ी सारे कुरियर को सिर्फ में रख देती है। SHIVA एक आदमी से पूछता है। सिर्फ कहां गई है। आदमी बताता है। सिर्फ अलग-अलग देश मैं जाता है।

अब SHIVA अपने सारे शेयर बेच देता है। TEDDY को ढूंढने के लिए तभी SRIVIDYA को BAKU AZERBAIJAN पहुंच जाती है। जब वह पार्सल खोलते है। तब उन्हें उसमें TEDDY मिलता है। तो वह उसे कहीं पर छोड़ जाते है। SRIVIDYA बॉक्स से बाहर निकलती है। तब पता चलता है। उसे वह दूसरे देश में आ गई है। तभी वह छुप छुप कर सभी आदमियों की फोटो खींच लेती है। फिर इधर उधर भटकने के बाद उसे एक अंधा भिखारी मिलता है। जहां पर उसे एक फोन मिलता है। उस फोन में अपनी फोटो खींचती है। जो कैफ़े के पास में होता है। और फेसबुक पर पोस्ट कर देती है। SHIVA उससे देश में पहुंच जाता है। और उस कैफ़े वाली के यहां पहुंच जाता है। वह आस पास देखता है लेकिन उसे TEDDY नहीं मिलता। SHIVA जब गाड़ी में बैठता है। तब TEDDY उसे देख लेता है। और उसे बुलाने लगता है। लेकिन SHIVA नहीं सुनता है। तो TEDDY उससे गाड़ी के ऊपर चढ़ जाती है। और उनके घर पहुंच जाती है।

Some Photos

अब SHIVA TEDDY से मिल जाता है। TEDDY सब कुछ बताता है। जो जो उसके साथ हुआ था। और उन आदमियों की फोटो भी दिखाती है। SHIVA को SHIVA जब फोटो देखता है। तो वह उसके हाथ पर बने टैटू को देखता है। जो उस जगह पर सभी गुंडों के हाथ पर होता है। SHIVA उन सबको SRIVIDYA की फोटो दिखाता है। उन सब में से एक लड़का SRIVIDYA की फोटो देख कर डर जाता है और वहां से भागने लगता है। तभी SHIVA उसके पीछे जाता है। और उसे पकड़ लेता है। लड़का कहता है। मुझे इसकी बॉडी कुछ हफ्ते पहले मिली थी और मेरा काम सिर्फ उसकी बॉडी को एक फैन में पहुंचाना होता है। और मेरा काम यहीं पर खत्म हो गया था।

अब SHIVA लड़के से उस आदमी का नाम पूछता है। जो यह काम करने की कहता है। वह लड़का उस आदमी का नाम बता देता है। अब SHIVA उस आदमी के पास जाता है। जहां पर उनकी लड़ाई होने लगती है। लड़ाई के बाद SHIVA पूछता है तुमने इस लड़की को देखा है। तब आदमी बताता है। यहां पर लोगों के ऑर्गन बेचे और निकाले जाते है। और सिर्फ कोमा में जो लोग है। उन्हें यहां पर लाया जाता है। क्योंकि कोमा पेशेंट के ऑर्गन को काफी दिनों तक रखा जा सकता है। और यह सब कुछ कौन करता है। मुझे भी नहीं पता।

Doctors

अब हमें DR.VARADARAJAN को देखते है। जो इस सारे बिजनेस को चलाता है। उससे पता चल जाता है। भारत में एक हॉस्पिटल में एक आदमी ने वहां के कैमरा तोड़ दिए थे। तभी वह अपने पीए से कहता है। SRIVIDYA के केस से जितने भी रिलेटिव डॉक्टर या नर्स है। उन सब को मारने का ऑर्डर दे देता है। SHIVA TEDDY को एक वैन मैं बिठा देता है। जिसमें एक नई पार्टी का चेकअप करवाने ले जाते है। TEDDY SHIVA को बताती है। यहां पर बहुत सारी बॉडी है। और मेरी बॉडी भी यहीं पर है। बॉडी का चेकअप होने के बाद उसे ले जा रहे होते है। तभी SHIVA वहां पहुंचकर ड्राइवर को मार देता है। TEDDY और उस बॉडी को लेकर अपने घर चला जाता है।

अब लड़की को आ जाता है। और उसे पता लगता है। कि उसकी किडनी निकाल ली गई है। यह देखकर SHIVA बहुत दुखी होता है। और लड़की से कहता है। इंडियन एंबेसी से बात करके तुम्हें इंडिया भिजवा दूंगा मैं। SHIVA और उसका दोस्त एंबेसी चाहते है और उन्हें सब कुछ बता देते है। लेकिन वह उनकी बातों पर यकीन नहीं करता। तभी TEDDY को लेकर आते है। जब TEDDY सब कुछ बताता है। तो वह उनकी बातों पर विश्वास कर लेता है। वह SHIVA से कहता है। आपको सबूत लाना होगा जिसकी वजह से हम उस पर एक्शन ले सके। SHIVA सबूत लेने के लिए वहां के एक हॉस्पिटल में एडमिट हो जाता है। तभी डॉक्टर उसे दवाइयां और इंजेक्शन लगाने लगते है। जिससे वह कोमा में चला जाए। अब धीरे धीरे SHIVA कोमा मैं जाने लगता है। अब उसे DR.VARADARAJAN के हॉस्पिटल में ले जाते है। वहां पर उसे बेबी इंजेक्शन लगाते है। जो SRIVIDYA को लगाया गया था।

Security 

अब लड़की एंबेसी मैं मिलने जाती है। लेकिन उसे एंबेस्डर मरवा देता है। क्योंकि DR.VARADARAJAN उसी का बेटा होता है। लेकिन वहां पर TEDDY होता है। और वह चुपके से वहां से निकल जाता है। और सारी बातें SHIVA के दोस्त को बता देता है। अब TEDDY वहां पहुंच जाता है। जहां पर SHIVA और उसकी बॉडी को रखा गया था। वहां पर TEDDY SHIVA को होश में लाता है। और थोड़ी देर बाद SHIVA होश में आ जाता है। सिक्योरिटी उन्हें देख लेता है। और उन में लड़ाई शुरू हो जाती है। उन्हें मार कर वहां से निकल जाता है। लेकिन SHIVA को यह पता नहीं होता इन सब के पीछे DR.VARADARAJAN है।

SHIVA को पता नहीं होता कि SRIVIDYA किस हॉस्पिटल में लेकर गए है। लेकिन पुलिस की मदद से वह सारी बातें सोचता है। और बताता है। SRIVIDYA को यहां पर इस हॉस्पिटल में लेकर गए होंगे। वह भी हॉस्पिटल पहुंच जाता है। वहां पहुंचते ही SHIVA की लड़ाई शुरू हो जाती है। तभी SRIVIDYA का ऑपरेशन शुरू हो जाता है। जैसे-जैसे ऑपरेशन आगे पड़ता है। वैसे- वैसे TEDDY भी बेहोश होने लगता है। तभी SHIVA को बचाने के लिए गोली खा लेती है। TEDDY SHIVA को बताती है। मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं SHIVA ही उसे अपनी फीलिंग बता देता है। तभी SRIVIDYA आंख से आंसू निकलने लगते है। इतना कहने के बाद TEDDY से SRIVIDYA की आत्मा निकल जाती है।

Fight

अब SHIVA भाग कर SRIVIDYA के पास जाने लगता है। तभी उसके सामने DR.VARADARAJAN आ जाता है। उनकी लड़ाई शुरू हो जाती है लेकिन DR.VARADARAJAN को SHIVA वही इंजेक्शन लगा देता है। जो उसे कोमा में पहुंचा देती है। SHIVA SRIVIDYA का ऑपरेशन रखवा देता है। और दूसरे हॉस्पिटल में एडमिट कर देता है। जहां पर SRIVIDYA को होश आ जाता है। वह पहली बार SRIVIDYA को देखता है लेकिन SRIVIDYA को कुछ याद नहीं रहता और नहीं पहचानते है। तभी टीवी पर दिखाते है एंबेस्डर को पुलिस ने पकड़ लिया और DR.VARADARAJAN लापता है।

अब SRIVIDYA भारत में वापस आ जाती है। और अपनी फैमिली के साथ खुश रहने लगती है। SHIVA को पहली बार कोई पसंद आया था। लेकिन उसने पहचानने से मना कर दिया। SHIVA TEDDY को लेकर घर पहुंच जाता है। अब धीरे -धीरे SRIVIDYA SHIVA को पसंद करने लगती है। और अब SRIVIDYA SHIVA को बता देती है मैं तुम्हें पसंद करती हो। और अब SHIVA और SRIVIDYA की शादी हो जाती है। और मूवी ही पर खत्म हो जाती है।

 

Leave a Comment