Malik Full Movie Review In Hindi | Star Cast | Release Date

MALIK FULL MOVIE REVIEW IN HINDI | STAR CAST | RELEASE DATE

स्वागत है आप सभी का आपके हमारे वेबसाइट “OKBUDDIES.COM” में। तो कैसे हैं आप लोग, आशा करते हैं कि आप सभी अच्छे होंगे। तो चलिए शुरू करते हैं आज के इस आर्टिकल Malik Full Movie Review In Hindi में।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको Malik Movie का Review वो भी हिंदी में देंगे detail के साथ। इसमें आप जानेंगे Malik Full Movie Release Date, Star Cast, Director, Producer, etc. यह फिल्म एक action, thriller फिल्म है जिसे आपको जरूर देखना चाहिए।

Movie Name Malik
Release Date 15 July 2021
Genre Drama
Director Mahesh Narayan
Producer Anto Joseph
Writer Mahesh Narayan
Star Cast Nimisha Sajayan, Fahadh Faasil, Joju George, Maala Parvathi, Dileesh Pothan
Music Sushin Shyam
Language Tamil
Imdb Rating click here

 

Malik Movie Release Date 

जैसा कि आप सभी जानते ही होंगे कि Malik Movie,  15 July 2021 को ही Release हो चुकी है। यह फिल्म एक drama genre फिल्म है जिसे आपको जरूर देखना चाहिए। अगर आप इस फिल्म को देखना चाहते हैं तो Amazon Prime Videos को अपने मोबाइल, लैपटॉप में open करें और आराम से popcorn का मजा उठाते हुए इस फिल्म को देखिये।

Malik Movie Star Cast 

तो जानते हैं Malik Movie Star Cast को जिसमे lead role play कर रहे हैं Fahadh Faasil (Sulaiman Malik) जो कि एक smuggler है। Nimisha Sajayan (Mihrunissa Sulaiman) एक teacher है जिनसे Malik को प्रेम हो जाता है।

Malik Full Movie Review In Hindi 

इस Movie में एक आदमी की पूरी जवानी से लेकर बुढ़ापे तक की स्टोरी बताई गई है। उसी के इर्द गिर्द यह पूरी कहानी चलती है और यह मूवी 2 घंटा 40 मिनट की है।

तो मूवी की शुरुआत में एक आदमी को दिखाया जाता है जिसका नाम सुलेमान मलिक होता है। उसे लोग अली अक्का कहकर बुलाते थे। वह हज की यात्रा पर जाने वाला था इसीलिए उसके घर में दावत रखी गई थी और सभी वहां उस दिन मिलने आए हुए थे। फिर हमें दिखाया जाता है कि अबू नाम का मंत्री, मलिक से मिलने आता है। सुलेमान मलिक अपनी कम्युनिटी के लोगों की काफी हेल्प करता था। जो भी उन्हें जरूरत होती थी वो उन्हें provide करवाता था, एक तरह से वह उन लोगों का मसीहा था।

आबू और मलिक मिलते हैं और उनके साथ एक और आदमी आया हुआ था तो मलिक उसे बाहर जाने के लिए कहता है। वो जैसे ही बाहर जाता है मलिक, आबू पर चिल्लाने लगता है। Actually, आबू एक मंत्री था but मलिक ने उसे coastal areas में रहने वाले लोगों के लिए building बनाने को कहा था बट उसने काम शुरू नहीं किया था और आबू वहां की जमीन से बालू निकालकर construction के काम में बेचना चाहता था लेकिन मलिक ऐसा नहीं होने देना चाहता था इसीलिए उस पर चिल्ला रहा था।

Malik and Family

इसके बाद हमें मलिक की बेटी रजिया और बीवी मेहरुनिसा को दिखाया जाता है। रजिया की माँ उसे डाँट लगा रही होती है क्यूंकि उसने किसी आदमी को थप्पड़ मार दिया होता है। तो रसिया उल्टा अपनी मां से ही बहस करने लग जाती है तो मां उसे एक जोर का थप्पड़ मार देती है।

अब हम मेहरुनिसा को मलिक के पास देखते हैं। मलिक उससे कहता है कि जो लोग बाहर आए हुए हैं वह मुझसे मदद चाहते हैं तो मैं कैसे यहां से चला जाऊं। मेहरुनिसा उसे समझाती है और कहती है कि बस 10 दिनों की बात है। मलिक अब बुड्ढा हो गया था और अब वह इतना काबिल नहीं रह गया था कि वह लड़ाई लड़ सके इसीलिए वह हज यात्रा पर जाकर सब कुछ खत्म करना चाहता था। अब मलिक सब को अलविदा कहता है और वहां से एयरपोर्ट जाने के लिए निकल जाता है। जब airport जाकर aeroplane में बैठने वाला होता है तभी वहां पुलिस आकर उसे पकड़ लेती है। पुलिस ने उसे TADA Act के तहत arrest करा था।

अब हमें मलिक की मां को दिखाया जाता है जिनसे पुलिस पूछताछ करने को आई होती है। पुलिस इंस्पेक्टर ऋषभ उनसे कहता है कि वह court room में आकर अपना बयान दें क्योंकि उन्हें अपने बेटे के सारे कर्म कांड के बारे में पता था। लेकिन मां को court आने को मना कर देती हैं और यह कहती हैं कि अगर वह जेल में ही रहे या मर जाए तो ही अच्छा है क्योंकि मेरे बेटे की वजह से अब और किसी की जान नहीं जानी चाहिए।

Three Boys

अब हम यहां पर तीन लड़कों को देखते हैं जिसमें से एक का नाम शिबू और दूसरे का नाम फ्रेडी होता है। फेडी जिस स्कूल में पढ़ता था वही पुलिस अंदर घुसने का try कर रही होती है। तो फ्रेडी पुलिस के ऊपर ही बम फेंक देता है, जिससे कि वहां अफरा-तफरी मच जाती है। पुलिस वालों  भीड़ को control करने के लिए smoke bomb फेकती है। फ्रेडी स्कूल से निकलकर साइकिल से भाग रहा होता है पर वह वहीं पहुंच जाता है जहां पुलिस थी और वह पकड़ा जाता है। फ्रेडी की मां और उसके पिता David पुलिस स्टेशन आते हैं, उसे छुड़ाने के लिए but पुलिस वाला कहता है कि उसने पुलिस पर बम फेंका है, तो यह कोई आम case तो नहीं है।

अब हमें दूसरे पुलिस स्टेशन का सीन दिखाया जाता है, जहां बाकी लोगों को भी पकड़ लिया गया था, जो लोग फ्रेडी और उस दंगे में मौजूद थे। पुलिस उन लोग से मलिक को जेल में ही मार डालने के लिए कह रही होती है but कोई भी agree नहीं कर रहा होता। तभी शिबू, मलिक को मारने के लिए तैयार हो जाता है लेकिन वह शर्त रखता है कि उसके ऊपर जितने भी charges है वह हटा दिया जाए और उसे मलेशिया जाने का पासपोर्ट दे दिया जाए। पुलिस इस बात से agree हो जाती है उसकी सारी शर्तें मान लेती है।

Shibu & Fredy Went Jail

अब फ्रेडी को जेल ले जाया जा रहा होता है, जहां पर शिबू से बस में मिल जाता है। वह सब उसी जेल में जा रहे होते हैं जहां पर मलिक मौजूद था। शिबू, फ्रेडी को बताता है कि वह उसके अंकल को मारने के लिए जा रहा है। यहाँ हमें पता चलता है कि मलिक, फ्रेडी के अंकल थे पर उन दोनों परिवारों के बीच अब रिश्ता नहीं रह गया था इसीलिए यह सुनकर उसे ज्यादा शौक नहीं लगता।

अब जेल के बाहर बस रूकती है तो सब कैदी उतरने लगते हैं। तो जैसे ही शिबू नीचे उतरता है, तभी कोई उस पर पेट्रोल पंप फिकर उसे मार डालता है। फ्रेडी उसके just पीछे ही था तो उसकी छाती भी जल जाती है। फ्रेडी को जेल के ही हॉस्पिटल ले जाया जाता है जहां एक lady doctor आकर उसका इलाज करने लगती है।

अब पुलिस वालों को पता चल जाता है कि किसी ने information leak कर दी थी, जिसकी वजह से मलिक के आदमियों ने शिबू को मार डाला। कोई भी पुलिस ऑफिसर मलिक को मारकर खुद की जान खतरे में नहीं डालना चाहता था इसलिए वह किसी और को यह काम करने के लिए ढूंढ रहे होते हैं। तभी एक पुलिस वाला फ्रेडी को यह काम सौंपने के लिए suggest करता है। पुलिस ऑफिसर ऋषभ इस बात पर आपत्ति जताता है कि वह अभी तो बच्चा ही है।

तब lady inspector  कहती है कि बच्चा है पर उसने काण्ड तो बड़े-बड़े की है। तो आगे चलकर और भी बड़ा कुछ कर सकता है इसीलिए इस काम के लिए एकदम perfect है। अब दौ पुलिस वाले फ्रेडी के पास जाते हैं और उसे डराने लगते हैं यह कहकर किया उम्र भर के लिए जेल में ही सड़ेगा और ऐसे ही उसकी जिंदगी खत्म हो जाएगी। अब पुलिस वाले उसको एक ऑफर देते हैं कि अगर वह मलिक को जेल में ही मार दे तो उसे जल्द से जल्द  छोड़ देंगे वरना वह ऐसे ही जेल में सड़ता रह जाएगा।

Mehrunisa Met Malik In Jail

अब हम देखते हैं कि  मेहरुनिसा पुलिस ऑफिसर हेड से मिलती है और उनसे विनती करती है कि मलिक की security बढ़ाई जाए। ऑफिसर कहता है कि वह उससे मिलने की अनुमति तो दे सकता है और उसके cell में कूलर भी लगवा देंगे पर security नहीं बढ़ा सकते।

Next day हम देखते हैं कि मेहरुनिसा, मलिक से मिलने गई होती है। मलिक को 15 दिन के रिमांड पर रखा गया था। मलिक उसे बताता है कि अबू को पहले ही पता था कि airport जाते ही उसे arrest कर लिया जाएगा। लेकिन शायद उसी ने ही उसको जेल भिजवाया है। मेहरुनिसा बताती है कि तुम्हारी मां जेल में आई है लेकिन तुमसे मिले नहीं बल्कि डेविड के बेटे फ्रेडी से मिलने आई है।

  Malik Mother

अब हम मलिक की मां को देखते हैं, जो कि फ्रेडी से मिलने आई हुई थी। इंस्पेक्टर ऋषभ ने फ्रेडी के रूम में transmitter और camera लगा दिया था ताकि वह उनकी सारी बातें सुन सके। मां बोलती है कि उन्हें पता है कि तुम्हें मेरे बेटे को मारने के लिए कहा गया है लेकिन मेरा बेटा जब 6 साल का था, तो तभी वह मरते मरते बचा था और अब मैं सोचती हूं कि वह उस टाइम ही मर गया होता तो ज्यादा अच्छा होता। अब यहां पर कहानी फ्लैशबैक में जाती है।

Flashback

मलिक की मां बताती है कि मलिक और उसके पिता को काफी भयानक बुखार था। तब उन दोनों को मस्जिद में लेकर गई थी लेकिन तब पता चलता है कि उन दोनों की मौत हो गई है। अब उन  दोनों को दफनाया जा रहा होता है तभी मौलवी notice करते हैं कि मलिक जिंदा है तो वह उसे तुरंत कब्र से निकाल लेते हैं। अब उनकी फैमिली के पास कोई भी घर नहीं था तो इसीलिए मस्जिद की commette ने उन्हें वहीं पर रहने के लिए घर दे दिया था। मलिक की मां वही पर स्कूल में टीचर जॉब करने लगती है। मलिक का मन पढ़ाई में नहीं लगता था, वह बस समुद्र में मछली पकड़ता रहता था जिसको लेकर उसकी मां काफी परेशान हो जाती थी।

When Malik Went First Time Jail

मलिक अब बड़ा हो जाता है तो उसके दोस्त भी बन जाते हैं। एक दिन उसके दोस्त डेविड को स्कूल के प्रिंसिपल ने खूब मारा होता है तो अगले ही दिन मलिक, प्रिंसिपल को स्कूल टॉयलेट में ही बंद कर देता है। अब इस बात से उसकी पुलिस में complaint हो जाती है और उसे और उसके दोस्तों को इसके लिए जेल भेज दिया जाता है। यह पहली बार था जब मलिक जेल में गया था, लेकिन यह आखरी नहीं होने वाला था।

अब मलिक जेल से निकलकर smuggling का काम शुरू कर देता है और कई बार पुलिस से पकड़ा भी जाता है लेकिन जो बड़े गुंडे smuggling के धंधे में थे वह उसे अपने फायदे के लिए छुड़ा भी लेते हैं। अब मलिक और बड़ा हो जाता है और वह डेविड के साथ मिलकर और बड़ी-बड़ी smuggling करने लग जाता है वह अब fishing के बहाने सामन smuggling करने लग गया था।

David Sister Mehrunisa

 हमें अब डेविड की बहन मेहरुनिसा को दिखाया जाए जो कि काफी ज्यादा daring और लड़ाकू होती है। मलिक और डेविड, स्मगलर चंद्रन को सामान दे देते हैं और वह चला जाता है। मेहरुनिसा मछलियों को खुद बेचने की बात करती है और घर के सामने ही अपनी मछली की दुकान लगा लेती है लेकिन उसकी मां उसे डाँटकर स्कूल जाने के लिए कह देती है।

शाम को जब वह आती है तो देखती है कि सुलेमान और डेविड मछलियों को ले जा रहे थे क्योंकि किसी ने भी उन्हें नहीं खरीदा था और वह सड़ गई थी। अब वह दोनों मछलियों को फेंकने dump yard जाते हैं, मलिक उनको वहां नहीं फेकने को कहता है क्योंकि जहां dump yard था, वहां  एक कब्रिस्तान हुआ करता था जहां उसके पिता की कब्र थी। लेकिन कचरे में थक चुकी थी और सामने ही मस्जिद था।

मलिक मस्जिद के मौलवी मुसाका से कचरे के बारे में बात करता है जहां कचरा फेंका जाता था। वह जमीन मस्जिद नहीं आती थी तो वो यहां कचरा हटाने को कहता है। मुसाका क्या कहता है कि उनके पास इतना पैसा नहीं है कि यहां कोई बाउंड्री बनवा सके और पंचायत ने भी उनकी नहीं सुनी। मलिक अब दिमाग लगाता है वह कहता है कि यह कचरा हर घर में पहुंचाया जाएगा जिसने भी यहाँ फेका है।

जो बच्चे वहां कचरा बीनते थे वह उनको इकट्ठा करके कचरे में से पोस्ट कार्ड या कोई भी डॉक्यूमेंट ढुँढ़वाता है। जिसमे कि address लिखा हो और फिर रात में कचरा बोरियों में भरकर हर घर के सामने फेंक देता है। अब इस बात पर मालिक की complaint पुलिस स्टेशन में हो जाती है कि उसी ने यह काम किया है तो पुलिस उसे arrest करके ले जाती है। पुलिस को बांधकर बुरी तरह से से पीटती है और कचरे के ढेर में फेंक देती है।

Abu and Malik

अब अब्बू नाम का आदमी मलिक को आकर बताता है कि स्मगलर चंद्रन अब दूसरे लोगों से स्मगलिंग करवाने लगा है तो तुम्हारे लिए smuggling करना मुश्किल हो जाएगा। डेविड कहता है कि मस्जिद के मामले की वजह से मेरी community के लोग परेशानी में पड़ गए हैं। मलिक उसे समझाता है कि हम सब एक ही हैं और अब्बू से पूछता है कि वह उसके साथ मिलकर काम कर सकता है या नहीं। अब अबू और मलिक एक साथ हो जाते हैं और अपने लिए ही smuggling करना start कर देते हैं। वो लोग जब सामान लेकर आ रहे होते हैं तो coastal police पीछे पड़ जाती है पर उनकी boat कुछ ज्यादा ही advance हो गई थी। वह एक boat भी थी और कार भी थी, वो पानी से निकलकर जमीन पर चलने लगती है और पुलिस से बच जाते हैं।

अब वह सामान डेविड के घर ले आते हैं और उसे खोल कर देखते हैं तो पता चलता है कि उसमें perfumes की बोतल रखी हुई थी। वह लोग घर के बाहर ही perfumes की बोतल सजाकर दुकान खोल लेते हैं और उन्हें ₹15 में बेचने लग जाते हैं। उन लोग का सारा सामान काफी अच्छे से बिक जाता है और उनकी खूब कमाई होती है। वह ऐसे ही धीरे-धीरे और भी ज्यादा सामान लाने लगते हैं और पुलिस से लेकर उन सभी को घूस देते हैं जिनसे उनको खतरा होता है। ऐसे ही करते करते अब उनकी शहर में काफी बड़ी दुकान हो जाती है और वह लोग अमीर हो जाते हैं उनके पास कार, बाइक, घर सब आ जाता है। 

Malik and Mehrunisa Marraige

इसी बीच हम देखते हैं कि मलिक और मेहरुनिसा के बीच नजदीकियां बढ़ने लग जाती हैं। उनका काम काफी अच्छे से चल रहा होता है तभी  उनकी दुकान में शहर का नया कलेक्टर अनवर आता है। वह मलिक से वॉशिंग मशीन खरीदने की बात करता है, जो वॉशिंग मशीन उसको चाहिए थी उसके दुकान में नहीं थी तो वह से गोडाउन ले कर चला जाता है। अनवर वहां देखता है कि काफी बच्चे वहां पढ़ाई कर रहे थे मलिक समझ जाता है कि कलेक्टर वाशिंग मशीन नहीं खरीदने आया है बल्कि उसका काम देखने आया है कि वह करता क्या है।

मलिक उसे बताता है कि यहां कोई भी smuggling का काम नहीं होता बल्कि बच्चों को पढ़ाया जाता है ताकि वह खुद के पैरों पर खड़े होकर कुछ कर सके। यह सुनकर अनवर काफी खुश होता है और मलिक से कहता है कि और कोई काम है क्या जो वो उसके लिए कर सके। तब मलिक उसे मस्जिद के कचड़े के पास ले जाता है उसे कहता है कि इस गांव में कोई भी स्कूल नहीं है इसलिए यहां पर स्कूल बनवाना चाहता है। अगर आप यह  कचरा  साफ करवा सके तो यहीं पर स्कूल बन जाएगा ।

अब हम देखते हैं कि वहां सारा कचरा साफ हो जाता है और स्कूल बनने की नींव रख दी जाती है । अबू कहता है कि स्कूल तो मस्जिद की जमीन पर है तो यह मुस्लिम का ही हुआ ना, तब मुसाका कहता है कि स्कूल तो सभी के लिए होता है यहां मुस्लिम क्रिश्चियन सभी पढ़ने आ सकते हैं। वह कहता है कि मलिक के पिताजी यही दफनाए गए थे स्कूल का नाम उनके नाम पर रखा जाएगा।

डेविड थोड़ा थोड़ा इस बात को लेकर ना खुश होता है क्योंकि स्कूल एक मुस्लिम नाम से बन रहा था पर कुछ कहता नहीं और सब की खुशी में खुश होता है । एक दिन मलिक, डेविड को दिल की बात बता देता है कि वह उसकी बहन से प्यार करता है और वह शादी करना चाहता है । डेविड को कोई दिक्कत नहीं होती और इसके लिए हां कर देता है। अब स्कूल बन कर तैयार होने वाला था तो वह सभी जगह पर pamphlet बाँट रहे थे। मालिक एक pamphletअपनी माँ को भी देने जाता है और अपनी माँ से स्कूल में पहला लेक्चर देने के लिए कहता है। 

Godown Blast

अब हम देखते हैं कि गोडाउन में कई बच्चे काम कर रहे होते हैं। तो रात हो जाने पर डेविड उनको घर जाने को बोलता है और बाइक लेकर खुद चला जाता है। वह थोड़ी दूर पहुंचा होता है, तभी गोडाउन में बहुत बड़ा धमाका हो जाता है।  तो जल्दी से वहां जाकर देखते हैं तो पूरा गोडाउन जल चुका था और वहां काम कर रहे हैं सभी बच्चे मारे जाते हैं बच्चों के परिवार वाले मलिक को बद्दुआएं दे रहे होते हैं क्योंकि उसकी वजह से ही उनके बच्चे मारे गए थे।

मलिक को खबर मिलती है कि सारा काम चंद्रन ने करवाया है, उसी ने गोडाउन में आग लगाई थी। मलिक उसको मारने के लिए planning करने लगता है। चंद्रन के घर पर कोई फंक्शन था तब मलिक उसके ऊपर नजर रखता है और उसे अकेला देख डेविड को उसे मारने भेजता है। डेविड उसे मारने जाता है पर वह उस पर भारी पड़ रहा होता है तो मलिक, लोहे की रॉड लेकर उसको जान से मार डालता है।

अब पुलिस की पूरी फ़ौज मलिक के घर पर आ जाती है क्योंकि चंद्रन missing था और पुलिस को लगता है कि मलिक ने ही कुछ किया है। कलेक्टर अनवर, मलिक के पास आता है और चंद्रन के बारे में पूछता है और उसे बताता है कि मार डाला है और छोटे-छोटे टुकड़े करके समुद्र में फेंक दिया है। अगर कोई भी उनकी लोगो और जमीन पर आंख उठाकर देखेगा तो फिर से हो यही करेगा।

मलिक की मां को पता चलता है कि चंद्रन को उसने ही मारा है तो वह कलेक्टर से अपने खूनी बेटे का गवाही देने का प्रॉमिस कर देती है। मलिक पहली बार जेल गया था तभी उसकी मां ने खुद से उसे अलग कर दिया था। वह उसको अपना बेटा नहीं मानती थी क्योंकि वह गलत राह पर चल चुका था।

Flashback End, Come Into Present

आप सीन present में आता है, मलिक की मां फ्रेडी से बोलती हैं कि सुलेमान को मरना चाहिए लेकिन इस तरीके से नहीं जिस तरीके से मारने की कोशिश की जा रही है। वह कहती हैं जिस स्कूल में बम फेंका था वह स्कूल सुलेमान ने ही बनवाया था और जिस जमीन पर तुम रहते हो और सुलेमान की ही देन है। वह ना होता तो कुछ भी नहीं होता। पुलिस वालों को लगता है कि फ्रेडी इन बातों को जानकर मलिक को मारने से इंकार ना करते इसीलिए वह मां को रूम से बाहर कर देते हैं। 

फ्रेडी की मां उसे बता रही होती है कि हमले के बाद तुम्हारे पिताजी का पांव टूट गया। अब हमें मौका मिला है मलिक से बदला लेने का तो तुम्हें हमारे लिए मारना ही होगा। यह सुनकर फ्रेडी, मलिक को मारने के लिए मोटिवेट हो जाता है। अब हम देखते हैं फ्रेडी, अब्बू से मिलता है तब हमें पता चलता है की अब्बू ने ही मलिक को जेल करवाई थी और मलिक को मारने का प्लान उसका ही था। पुलिस ऑफिसर ऋषभ, मलिक से मिलने आता है और उसे बताता है तुम्हें मारने की तैयारी हो रही है। तुम्हें मारने वाला कोई और नहीं बल्कि डेविड का बेटा फ्रेडी है। मलिक कहता है वह मुझे नहीं मारेगा वह ऐसा कर भी नहीं पाएगा मेरे गांव के किसी भी आदमी के अंदर इतनी हिम्मत नहीं कि वह मुझे मार सके।

Malik and Fredy Fight

इसके बाद हम देखते हैं फ्रेडी को मलिक के cell में भेज दिया जाता है ताकि जो काम उसे दिया गया है वो पूरा कर सकें। मलिक नवाज पढ़ने के लिए बैठ जाता है तभी फ्रेडी यह मौका सही समझता है, उसे मारने के लिए। वह एक कंचा लेकर उसका गला घोट कर उसे मारने लगता है। पर कैसे भी करके मलिक अपने gun के पास पहुंच जाता है और उसके ऊपर तान देता है। लेकिन फ्रेडी उसे छोड़ देता है मलिक उसे मारता नहीं क्यूंकि वह उसे बिल्कुल भी मारना नहीं चाहता था।

फिर फ्रेडी, मलिक को उसके घर ले जाता है और वहां पर मालिक उसको अपने बेटे के बारे में बताता है कि कैसे सबने मिलकर उसके बेटे को मार दिया था। और मलिक अपने बेटे की पूरी कहानी बताने के बाद फफक फफक कर रोने लगता है कि अचानक से मलिक को दिल का दौरा पड़ता है। उसके बाद फ्रेडी एक लेडी डॉक्टर को बुलाता है जो मलिक को ठीक करना के बजाए उसका गाला घोटने लगती है और उसको मार डालती है।

बाद में पता चलता है कि उस लेडी डॉक्टर को पुलिस ने ही भेजा था क्यूंकि पुलिस ने उस लेडी डॉक्टर को एक बैकअप बनाया था कि अगर फ्रेडी मलिक को नहीं मार पाया तो लेडी डॉक्टर से मलिक को मरवा दिया जायेगा। और इस फिल्म की कहानी यही पर खत्म हो जाती है।

Malik Movie Conclusion

तो दोस्तों, आपने पढ़ा कि मलिक past ने जो गलत काम किए थे और जिन भी लोगों के साथ बुरा किया था।  उनसे बदला लिया था, लेकिन  गलत काम ही यही चीज उसकी मौत का कारण बन गई। भले मलिक लोगों के लिए मसीहा बना रहा, लेकिन करता हो सारा गलत काम भी था और गलत काम का नतीजा गलत ही होता है।

जैसा हमने last में देखा ही कलेक्टर को मार कर अपना बदला ले ही लिया था। लेकिन उसकी बेटी के सामने मलिक सबसे बड़ा villen बन चुका था कि उसके बाप को मारने की कोशिश की थी । इसलिए उसने मलिक को मार कर उनकी मौत का बदला लिया था। तो  movie में सब बदला बदला खेल रहे थे आपस में ही सब को मारना चाह रहे थे।

Movie की बात करें तो यह well crafted movie है इसकी cinematography काफी लाजवाब है। Movie की शुरुआत में 12 से 13 मिनट का one take shot देखने को मिलेगा जो काफी परफेक्ट नजर आता है। ऐसे ही हमें one take shot देखने को मिलते हैं और आप समझ सकते हैं कि one take shots देना काफी मेहनत का काम होता है। एक्टिंग की बात करें तो सभी ने बहुत अच्छी तरीके से अपना character निभाया है।  

Leave a Comment

error: Content is protected !!